बसंत पंचमी

                                                           बसंत पंचमी 

           इनको कुछ समझा दो माँ इनको कुछ बतला दो
           इनको कुछ समझा दो माँ इनको कुछ बतला दो
               ऋतुओं  के मेले से आकर बसंत पंचमी बोली |

                                               जन्म हुआ माँ सरस्वती का विद्या ने आँखे खोली
                                             माँ तुमने जब जन्म लिया तो सुर और ताल मिला दो
                                              इनको कुछ समझा दो माँ इनको कुछ बतला दो |

https://images.app.goo.gl/g6TRRSzyj6yVMFJm9

बच्चे है ये बहुत अच्छे है  तेरी पूजा सदा ये करते
  है अभिलाषा इनके मन की नैया पार लगा दो
इनको कुछ समझा दो माँ इनको कुछ बतला दो |

                                     नर  और नारी के जीवन का साक्षात्कार करा दो
                                     सपने में खो गए है दोनों इनको जरा जगा दो
                                     इनको कुछ समझा दो माँ इनको कुछ बतला दो |

https://images.app.goo.gl/w6phgdFdEv979QgU6

माँ बोली मेरे बच्चो तुम चींटी  और घड़ी को देखो
 मेहनत और समय की कीमत इन दोनों से सीखो  |

                                       नर  नारी को दूंगी ज्ञान बेटा बेटी एक समान
                                       बिन दहेज हो कन्यादान तभी होगी फसल धनवान |

इनको कुछ समझा दो माँ इनको कुछ बतला दो
  ऋतुओं  के मेले से आकर बसंत पंचमी बोली  |



                                 



No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.