भगवान ने हमे मनुष्य जन्म गिफ्ट में दिया है

हकीकत में जीवन इतना कठिन नहीं है


 भगवान ने हमे मनुष्य जन्म गिफ्ट में  दिया है |  फिर भी यह कैसी विडंबना है कि  जीवन के  रहस्य  को इंसान आज तक नहीं समझ पाया है |  विज्ञानं ने चाहे आज कितनी भी तरक्की कर ली हो ,किसी के आर्थिक  हालत  चाहे कितने  ही अनुकूल हो, किताबी ज्ञान चाहे दुनिया भर का भरा हो,  जब तक  हम जीवन के रहस्यों में उलझे रहेंगे किस्मत नहीं बदल पाएंगे |  क्योंकि  जीवन के सुकून और तनाव मुक्त होने का इलाज ना किसी डॉक्टर  के पास है ,न किसी अध्यापक के पास,  ना किसी संत महात्मा के पास | इसके  उपाय हमारे मन के अंदर होते  है  जिन को हम समझ नहीं पाते है | हकीकत में जीवन इतना कठिन नहीं है कठिन तो इसे हमारी महत्वकांक्षाये बनाती है, हमारा स्वार्थ और लालच बनाता है, हमारी लालसा बनाती है |

https://images.app.goo.gl/XPdm9yAme4Hxv6fq8

जीवन  नहीं हो सकता एक जैसा 

हम इन बातो को सोचे समझे बिना जीवन का बोझ उठाते नहीं है बल्कि ढ़ोते है  |  हमें  यह तो अच्छी तरह से पता होता है   कि  जब  मौसम प्रकृति ने अलग अलग बनाये है, खाना हम अलग अलग प्रकार का खाते  है ,पहनावा हमारा अलग अलग होता है, बोली हमारी अलग अलग होती है , शक्ल सुरते सभी की अलग अलग होती है तो फिर हम यह क्यों नहीं समझ पाते है जीवन भी हमारा एक जैसा नहीं हो सकता  कोई आर्थिक रूप से सम्पन्न होगा तो कोई कमजोर  किसी के जीवन में  आज सुख होगा तो कल दुःख भी आएगा | कोई आज समस्याओं  से घिरा  है तो कल उसकी समस्याओ के हल भी निकलेंगे  | परन्तु जिस उद्देश्य के लिए भगवान ने हमे मनुष्य जन्म गिफ्ट में  दिया है  उस उद्देश्य को पूर्ण करना भी जरूरी है  | 


https://images.app.goo.gl/dbRWTzLif8HP7Znf6


 जिस ने जीवन के इस रहस्य को समझ लिया वह अपनी किस्मत खुद  बदल लेगा 

 बचपन में भले ही हमारी समझ विकसित नहीं हो पाती |  परन्तु बड़े होने पर भी अक्सर लोग जीवन के रहस्यों को नहीं समझ पाते है |  और आजीवन लगातार  गलतियों को दोहरा कर इस जीवन को जब तक बैसाखियो के सहारे  न ला दे हमे चेन नहीं पड़ता  |  भगवान ने हमे मनुष्य जन्म गिफ्ट में  दिया है  |  जिन लोगो के पास एक स्वस्थ शरीर है, जिनके शरीर के सभी अंग सही सलामत  है, वह दुनिया का सबसे भग्यशाली व्यक्ति  है |    सबसे बड़ी दौलत   इंसान  के शरीर  के अंग ही होते है |  इन अंगो का सही इस्तेमाल ही हमारे जीवन की दिशा तय करता है |  आँख, कान , हाथ,  पैर , दिल, दिमाग  का संतुलित उपयोग  किसी के भी जीवन को सरल  बनाता है |  जिस प्रकार सड़क पर गाड़ी को एक   स्पीड  में नहीं  चलाया  जा सकता कहीं ब्रेक लगाने पड़ते है तो कही  हॉर्न  बजा कर भी काम चलाया जाता है  |  उसी प्रकार हमारे जीवन को भी एक जैसा तथा एक स्पीड में नहीं चलाया जा सकता |  जिस ने जीवन के इस रहस्य को समझ लिया वह अपनी किस्मत खुद  बदल लेगा | 

https://images.app.goo.gl/Ecs5yqRrCzQvwhxUA


 गुस्सा अहंकार कुंठा मनुष्य के सबसे बड़े शत्रु होते है 

इसलिए अपने और अपनों के मन को प्रसन्न रखने का हर सम्भव प्रयास करें | अभावों  में भी जीवन को जीना सीखें  | समस्याओं  से जूझने के बजाय उनके व्यवहारिक समाधान खोजें |  मुस्कान सिर्फ चेहरे पर ही नहीं मन के अंदर भी रखे | गुस्सा अहंकार कुंठा मनुष्य के सबसे बड़े शत्रु होते है इनसे दूरी  बना कर रखें | कथनी और करनी का फर्क  दूसरो पर ही नहीं  अपने आप पर भी लागू  करें | धन दौलत सम्पति रुपया पैसा हमारी पूंजी जब ही बनेगा जब हमारा स्वास्थ  सही होगा और   स्वास्थ  ही सबसे बड़ी पूंजी है  क्योंकि भगवान ने हमे मनुष्य जन्म गिफ्ट में  दिया है| 

लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 


No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.