जानिये भारत में है सोना उगलने वाली नदी

October 13, 2019
किसी जमाने में भारत में दूध दही की नदियाँ बहा करती थी

 हर कोई सोने चाँदी  का दीवाना होता है |   सोना चाँदी  बहुत ही बहुमूल्य धातु होती है |  सोने की फ़िराक में लोग  पहाड़ो को खोद डालते है  |  पुराने खजाने और सोने के लालच में लोग पुराने  खंडहरों मंदिरो को निशाना बना देते है  |  किसी जमाने में  भारत को सोने की चिड़िया कहा  जाता था |    भारत के सोने को लूटने के लिए ही  मुगलो से लेकर की विदेशी राजाओं  ने भारत पर आक्रमण किये  |  अंत में ईस्ट इंडिया कम्पनी भारत के स्वर्ण भण्डारो को ले जाने में सक्षम रही  |  और भारत जिसे  सोने की चिड़िया कहा  जाता था उसे कंगाल कर गई |  यहां के लोगो को गरीबी में जीवन जीने पर मजबूर कर गई | कहा  जाता है की किसी जमाने में भारत में दूध दही की नदियाँ  बहा  करती थी | ये  कितना सच है इसके प्रमाण तो हमारे पास नहीं है  | परन्तु  आज भी भारत में सोने की नदी बहती है इस बात के प्रमाण जरूर है  |   आज हम आपको बताने जा रहे है ऐसी ही नदी के बारे में  जो सोना उगलती है पर्दा उठाने जा रहे है इसके  रहस्य से | 

     जानिये भारत में भी  है सोना उगलने वाली नदी


https://images.app.goo.gl/pey8FNV8cR1ftEjj6


जी हाँ भारत में स्थित है ये नदी  |  झारखंड से निकलने वाली यह नदी लोगो के रोजगार का साधन है  | 5  से 7  हजार रुपये प्रति माह कमा लेते है लोग इससे सोना निकल कर | कड़ी मेहनत और कठिन परिश्रम से इकट्ठा करते है सोने का एक एक कण |

https://images.app.goo.gl/5BrMwMpA8FxBWJqD6

   सैकड़ो सालो से उगल रही है यह नदी  सोना |  वैज्ञानिक भी नहीं लगा पाए है असली वजह  |  मशीने भी नहीं लगा पाई पता कहाँ  से आते है सोने के कण  |

https://images.app.goo.gl/TYQBqoZd2Wd191rz5

छोटा नागपुर के पठार से निकल कर यह नदी सीधे  बंगाल की खाड़ी  में गिरती है  |  स्वर्ण रेखा नदी कहा  जाता है इसे  |

लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 





No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.