चीन का इंद्र धनुष पहाड़ अपने आप को जीवन के सात रंगो में ढालिए

October 02, 2019

जीवन में रंग हर व्यक्ति को ख़ुशी  देते है |  रंगो को देख कर मन में उल्लास पैदा होता है  |  रंग ही हमारे जीवन को रंगीन और बेरंग बनाते है |  निर्जीव चीजें  भी सजीव दिखाई देती है  जब उनमें  रंग भरे जाते है |   सजीव  इंसान भी  निर्जीव हो जाता है  जब  वह रंगों  का महत्व नहीं   समझता है |   यही वजह है की रंगीन चीजों की तरफ हम जल्दी आकर्षित होते है | आज हम आपको बताने जा रहे है इंद्र धनुष की तरह दिखने वाले रंगीन  पहाड़ो के के बारे में  जिन्हे देख कर  आपके जीवन में भी रंगो की बहार  आ जाये | इस तरह के पहाड़  शायद  ही आप लोगों  ने कभी  देखें  हो  |  ये कहाँ  स्तिथ है किस वजह से दीखते है  ये रंगीन  आइये जानते है  | 



https://images.app.goo.gl/BeGTYJg1EnZgSzj39

ये रंगीन इंद्रधनुष की तरह दिखने  वाले  सतरंगी पहाड़ पर्यटकों   के  आकर्षण का केंद्र बने हुए है  |  कुदरत का अद्भुद  करिश्मा है ये सतरंगी पहाड़ |

https://images.app.goo.gl/dXbDrWbapZwtm7Kh7

रेडिश बलुआ पत्थर से बने है  ये सतरंगी पहाड़ इंद्रधनुष आसमान में दिखाई देता है परन्तु यह धरती पर दिखाई देने वाला आश्चर्य जनक प्राकृतिक गिफ्ट है  |


https://images.app.goo.gl/mR1e6QxYTgaYXdJc9

यूनेस्को की विश्व धरोहर सूचि में शामिल है  ये अनमोल धरोहर |






https://images.app.goo.gl/LrwF1YNX5zCsTwkT6

स्थानीय लोग  झांगे   की आँख केंडी  कहते है  इन मन मोहनी  सतरंगी इंद्रधनुष पहाड़ियों को  |

https://images.app.goo.gl/xZyGSbgRkbhFSGDu6

        पश्चिमी चीन के गांसू  प्रान्त  में झांगे  नेशनल पार्क में स्थित है   दुनिया को लुभाने वाला  दुर्लभ चीन का ये इंद्रधनुष पहाड़ |

 अपने आप को जीवन के सात रंगो में ढालिए |   लोगो  को  आकर्षित करने  के लिए अपने आप को मन मोहना बनाइये  क्षमा , विनम्रता, अपनापन,  मस्कुराहट, उत्साह, आशा, उमंग  ये है जीवन के रंग | यदि ये रंग आपके जीवन में है तो   आप लोगो के पास नहीं बल्कि लोग  आपके पास  आएंगे |  यदि जीवन को बेजान  बेरुखा कर लिया तो आप सूखे वृक्ष की तरह हो जायेंगे |

लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 



No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.