पानी और जीवन दोनों का मीठा और शीतल होना बहुत ही जरूरी है

September 18, 2019
 हम नदियों के पानी की तरह ऊपर से नीचे आ रहे है

नदी   का पानी ऊपर से नीचे तरफ आता है | नीचे  आते- आते उसमे गंदगी शामिल हो जाती है जो उसे मैला कर देती है  |  इसके विपरीत कुँए   का पानी नीचे से ऊपर की तरफ आता है इसलिए मीठा होता है  | आज मानवता  रसातल में जा रही है  |  हम नदियों के पानी की तरह ऊपर से नीचे आ रहे है |  इसलिए हम भी नदी के पानी  की तरह मैले  होते जा रहे हैं |

https://images.app.goo.gl/TN97KUXKQCP6gP5s9
हम यांत्रिक और रासायनिक उपायों का सहारा लेने लगे है

 आज  न कोई ऊपर उठना चाहता है न कोई ऊपर उठने देना चाहता हैं |  यही वजह है की आज  जिस  कुओं के मीठे शुध्द  पानी की तलाश हम कर रहे हैं वो मीठा पानी हमे नहीं मिल पा रहा है |  हम पानी को मीठा  बनाने के लिए यांत्रिक और रासायनिक उपायों पर निर्भर  हो चुके हैं |  उसी प्रकार  जीवन को मीठा बनाने के लिए भी हम यांत्रिक और रासायनिक उपायों का सहारा लेने लगे है |
https://images.app.goo.gl/4r9xD22J6tJKh79K6


पानी और  जीवन दोनों का मीठा और शीतल होना बहुत ही जरूरी है

 यह तो हम जानते है की  पानी और  जीवन दोनों का मीठा और शीतल होना बहुत ही जरूरी है |   इसलिए हम  पानी को शुध्द करने के उपाय ढूंढ़ने लगे है  |  जिस   प्रकार हम पानी को शुध्द करने के उपाय ढूंढ रहे है  ठीक उसी   प्रकार हमे अपने जीवन को शुध्द करने के उपाय ढूढ़ना भी जरूरी है  |
https://images.app.goo.gl/KNcK4NtYh8uQaN7k9


 नीचे से ऊपर उठना  बहुत जरूरी है

प्राकृतिक उपाय विनम्रता, मानवता ,भावनाएं, एहसास लुप्त होते जा रहे हैं जीवन में   ऊपर उठने और उठाने  के लिए  नीचे से ऊपर उठना  बहुत जरूरी है |  तब ही हम शुध्द रह पाएंगे |  वरना ऊपर से नीचे  आते- आते तो न जाने कितने लोग अपनी गंदगी भी हम में डाल  कर हमे मैला कर ही रहे है  |और हम रोज नहा धो कर साफ सुथरे धुले हुए कपड़े पहन कर neat and clean  दिखने की गलत फहमी पाले हुए है |

https://images.app.goo.gl/gbuMFnHnUpG35Usy8

लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें |

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.