ये है नैतिकता के पतन के मुख्य कारण

August 19, 2019
आज हर व्यक्ति समाज में नैतिक गिरावट महसूस कर रहा है  बातें  सभी बड़ी बड़ी कर लेते है परन्तु जब नैतिकता के पतन के मुख्य कारण सामने  है उन पर चर्चा करने की बरी आती है तो तो हर व्यक्ति किसी न किसी तरह से उस चर्चा में शामिल होने से बचना चाहता है कारण यह नहीं है की समय की कमी है बल्कि कारण यह होता है की उसे पता है की कही  न कही  वह खुद भी नैतिकता   के पतन के कारणो  के लिए जिम्मेदार है  चाहे वह इसे सार्वजनिक रूप से स्वीकार नहीं करे यह समाज ही लोगो से मिलकर बना है परिवार हमारे है हम में से अधिकतर लोग दिन भर में कोई न कोई काम ऐसा कर ही देते है जो अमानवीय होता है निंदनीय होता है समाज हित  में नहीं होता है परन्तु इसे मानने  के लिए कोई तैयार नहीं होता है चाहे तो आप खुद  आजमाकर देखे ये कुछ नैतिकता के पतन के मुख्य कारण है जिनमे से कुछ न कुछ हमारी दिनचर्या में शामिल हो ही जाता है परन्तु हम उन्हें नजरंदाज कर जाते है  |
https://images.app.goo.gl/25djiVMHMoSV79ucA




1 पैसा कमाने की अंधी दौड़  | 

2 बुजुर्गो के मान सम्मान को ठेस पहुँचाना  | 

3 स्त्रियों के सम्मान का ध्यान न रखना  | 

4 नशीले पदार्थो का सेवन करना  |
https://images.app.goo.gl/xAN3Gg5BrYujXaTYA

5 नफरत, द्वेषता ,कुंठा पाल कर रखना  | 

6  विनम्रता ,अहिंसा के सिद्वान्तो  को अमल में नहीं लाना | 

7 पर्यावरण के प्रति लापरवाही बरतना | 

8 शिक्षा का व्यवसायीकरण होना  | 

9 स्वतंत्रता का दुरूपयोग करना |
https://images.app.goo.gl/knZVvMGuUqvQ7gPA9


१० अपने स्वार्थ की पूर्ति के लिए कानूनों का दुरपयोग करना | 

यदि आप मानते है की नैतिक पतन के लिए ये कारण जिम्मेदार है | और उनमे से किसी न किसी कारण के लिए आप भी जिम्मेदार है तो कृपया  इस पर अमल  करे  और यदि आप किसी भी कारण के लिए जिम्मेदार नहीं है तो आप  बधाई  के पात्र है |

लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 



No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.