अधिकतर पुरुष महिलाओ के विवादों से दूरी बनाना चाहते है

August 17, 2019
हर इंसान शादी करके अपना परिवार   बनाता है |  परिवार में स्त्री पुरुष दोनों होते है |  दोनों की आवश्यकता  अलग होती है |  दोनों के स्वभाव अलग- अलग होते है |  दोनों की शारीरिक संरचनाये अलग होती है |  दोनों की क्षमताये भिन्न होती है  |  कई बातो की भिन्नताओं  के  बावजूद दोनों में कुछ समानताये होती है  | दोनों को प्यार मोहब्बत की आवश्यकता होती है |  दोनों को रिश्तो की जरूरत होती है  | दोनों का जीवन एक दूसरे के बिना अधूरा है  | दोनों की जिम्मेदारियां होती है |
https://images.app.goo.gl/tiaFKMrsKKJ1A8b29

आज परिवारों में विवाद बढ़ रहे है परिवारों का  विखंडन  हो रहा है |  परिवारों में रोजाना की खिटपिट परिवारों की सुख शांति छीन रही है |    क्या अपने कभी गौर करने की कोशिश की है कि  आखिर ऐसी स्थितियां क्यों बन रही है ?  परिवार में किसी की भी शादी के बाद नए सदस्य का आगमन होता है, ऐसे में अक्सर नए सदस्य के साथ सभी का तालमेल बैठना सम्भव नहीं हो पाता  है |  और यही वजह होती है की सास बहू  ननद  भोजाई में अक्सर अपने अहंकार की वजह से   विवाद हो जाते है |
https://images.app.goo.gl/KyNTJ74qSCZNNshs9

  अधिकतर पुरुष महिलाओ के विवादों से दूरी  बनाना चाहते है |     लेकिन  जब विवाद ज्यादा बड़  जाते है तो घर  के पुरुषो को भी उसमे हस्तक्षेप करना ही पड़ता है  | घर गृहस्थी में महिलाओ के विवाद इस तरह के होते है जिनमे बहुत बड़ी गलतिया नहीं होती |   न ही उन गलतियों का सही गलत का अंदाजा लगाया जा सकता है  |  | उन्हें सिर्फ आपसी सूझ बुझ से ही हल किया जा सकता है  | जो हर पुरुष करने की कोशिश भी करता है परन्तु कई  बार स्थिति यह हो जाती है की पति  यदि माँ का पक्ष ले तो पत्नि  नाराज पत्नि  पक्ष ले तो माँ नाराज |  यही स्थिति ससुर की भी होती है जिस तरह के विवाद माँ के साथ होते है उसी तरह की स्थिति बहन के साथ भी बन जाती है मरण बेचारे  पुरुषो का हो जाता है  |
https://images.app.goo.gl/wWrR69U56NYrkN6M6


  जो महिलाये समझदार होती है वो विवाद होने पर घर के पुरुषो को उसमे शामिल नहीं करती है |  बल्कि आपसी सूझ बुझ से उनके समाधान निकाल कर घर की सुख शांति बनाये रखने में अपना योगदान देती है | जो महिलाये समझदार नहीं होती है वो घर के पुरुषो को उकसाने का काम करती है |  यही ना  समझी घर में छोटी छोटी बातो को तूल देकर बड़े- बड़े विवादों को जन्म देती है |  यदि घर को खुशहाल बनाना है तो महिलाओ को समझदारी दिखाना बहुत जरूरी है |  सही गलत पर अड़े रहना विवादों को जन्म देता है जबकि सही गलत को भूल कर घर की एकता, खुशहाली ,सम्पनता के लिए उठाया गया कदम समाधान देकर जाता है |
https://images.app.goo.gl/J1MeyBVqSRWK45Th7



लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 




No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.