जीवन की गाड़ी के अच्छे ड्राइवर बने हार्न और ब्रेक का अच्छा इस्तेमाल करना सीखे

August 14, 2019

इस ज़िंदगी को जीना सिर्फ ज़िंदा दिल लोगों के बस की बात है बाकी लोगों के लिए तो ज़िंदगी एक बहाना है जिस तरह से नाच न जाने आँगन टेढ़ा वाली कहावत है  उसी तरह जो लोग जीवन को जीना नहीं जानते वो कभी किस्मत को दोष देते है  कभी खुद को कभी दूसरो को  इसी दोषरोपण की वजह से  हर पल उनके जीवन में    समस्या बनी ही रहती है  जबकि  समस्या तो हर व्यक्ति के सामने  बनी  है | 
https://images.app.goo.gl/u9uvNLY8wUVJFxdP9

 वो लोग जो जिंदगी जीना जानते है  समस्याओ  हल  बिना निराशा और हताशा के निकल लेते है इसलिए वो बात बात पर मन को दुखी नहीं करते  न ही निराश होते है उन्हें यह बात समझ आ चुकी होती है की बिना  परेशानी  के जीवन ही सम्भव नहीं है |  ऐसा सम्भव ही नहीं है की जीवन की   गाडी बिना  ब्रेक  बिना हॉर्न  बिना स्टॉपेज  के चलती चली जाये | 
https://images.app.goo.gl/GH8ShcHTQrtRtts66

जो लोग जीवन को जीना जानते है वो जरूरत पड़ने पर जीवन की गाड़ी तेज भी   चला सकते है जरूरत पड़ने पर ब्रेक का स्तेमाल  कर वो जीवन की गाड़ी की गति धीमी करने में भी सक्षम होते है उन्हें  यह  भी पता होता है की जहां ब्रेक की आवश्यकता वहां ब्रेक तथा जहां हॉर्न की  जरूरत हो वहां हॉर्न से भी काम चलाया जा सकता है
https://images.app.goo.gl/GSGi1j6EAHjzgQag6
|

जो लोग  यह  नहीं जानते वो अपनी  जीवन की गाड़ी को बार बार दुर्घटना ग्रस्त करते रहते है जीवन की गाड़ी को कुशलता पूर्वक  चलाना नहीं सीखते है और जीवन भर टकरा टकरा कर जीवन को बहुत जल्द खटारा बना लेते है  | यदि जिंदगी को जीना चाहते  है तो जीवन की गाड़ी के अच्छे ड्राइवर बने हार्न और ब्रेक का अच्छा इस्तेमाल करना सीखे फिर देखे जीवन की गाडी कितनी स्मूथ चलती है |

लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 



            

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.