यदि आनंद नहीं खोजोगे तो दुःख हावी हो जाएंगे

July 20, 2019
जीवन में कई समस्याएं ऐसी होती है जिनके कोई समाधान नहीं होतें हैं |  क्योंकि वो समस्याएं होती ही नहीं हैं | हम उन्हें बेवजह समस्याएँ  मन लेते हैं |  ज़रा सोचिये जो समस्याए है ही नहीं उनके समाधान कैसे निकले जा सकते हैं ? फिर भी लोग  उनके समाधान खोजने में पूरी ज़िन्दगी लगा देतें हैं |
https://images.app.goo.gl/9zBDK3iiYoU8YRps5


 कुछ समस्याएं मौसम कि तरह होती हैं |  मौसम बदलने से कई बार हम परेशान  होते रहते हैं  | गर्मी के 
 मौसम में गर्मी नहीं पड़े तो  परेशान होते हैं |  ज़्यादा गर्मी पड़े तो परेशान,  बरसात नहीं हो तो परेशान,  बरसात हो जाये तो और ज़्यादा परेशान हो जाते हैं | यही स्थिति सर्दी की है सर्दी नहीं पड़ती है तो  गर्मी  से  परेशान रहते है ज्योही सर्दी पड़ती है वो बर्दाश्त नहीं हो पाती है
https://images.app.goo.gl/FaqBwAVT7yxz3QtR7


जीवन में भी अक्सर लोगोँ  को समस्याएं हो तो परेशानी होती है और न हो तो परेशानी जो समस्याएं नहीं हैं उनके समाधान पहले से ढूंढ लेते हैं जो समस्या है वो दिखती नहीं हैं जिस चीज़ पर पैसा खर्च  करने की आवश्यकता नहीं है उस पर व्यर्थ पैसा खर्च कर देतें हैं जिस पर पैसा खर्च करने की आवश्यकता है उस में कंजूसी करते हैं सुख प्राप्ति के लिए निकलते हैं तो दुःख साथ ले आते हैं जहाँ दुखों को छोड़ना होता है वहां सुखों को छोड़ आते हैं
https://images.app.goo.gl/Mzaa7Wi5F4NAsY2q6

गलतियां खुद करते हैं दोष दूसरों को  देते हैं इन्ही स्वाभाविक क्रियाओं की वजह से हम अपने आप को दुखी करते रहतें हैं हमे इस तरह दुखी देखकर दूसरे भी  दुखी हो जाते हैं और तब  चारों तरफ दुःख का साम्राज्य हो जाता है ख़ुशी प्रसन्नता और उत्साह दूर दूर तक  नज़र नहीं आता  है रोज़मर्रा की छोटी छोटी बातें जो हर परिवार में होती है हर घर ग्रहस्थी  में होती है आम जीवन में होती है उनसे दुखी होने की बजाये उनमे आनन्द खोजेें  जब आप आनंदित होंगे तो परेशानियाँ स्वतः ही समाप्त हो जाएंगी |दुःख खुद दुखी हो कर भाग जाएंगे यदि आनंद नहीं खोजोगे  तो दुःख हावी हो जाएंगे  दुखो के हावी होने की मुख्य वजह यही है  | 

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.