एक अच्छे दोस्त का परिवार होता है फैमिली मेम्बर की तरह

July 10, 2019
हर रिश्ता अपनी अहमियत रखता है |  कुछ रिश्ते खून के होते है कुछ दिल के और कुछ इंसानियत के दोस्ती का रिश्ता भले ही खून का  नहीं होता  परन्तु दिल और इंसानियत के मामले में यह रिश्ता वो  मिसाल कायम कर देता है जो खून के रिश्ते भी नहीं कर  सकते  है | वैसे रिश्ता कोई भी हो जिन्हे रिश्ते निभाने आते है   वो लोग वास्तव में रिश्तो की मिसाल कायम कर देते है यदि आप रिश्ते  निभाना चाहते  है और रिश्ते निभाने में आपको कोई अड़चन आ रही है   तो हमें  कमेंट करे हम आपको  हर सम्भव सलाह प्रदान करेंगे |आज हम आपको बताने जा रहे है किस तरह दोस्तों के परिवार  एक दूसरे की खुशियों में शामिल होते हैं |
https://images.app.goo.gl/PpZV4NFi73Czy7S86
 एक अच्छे दोस्त का परिवार  फैमिली मेम्बर की तरह होता है |   अच्छे दोस्त एक दूसरे के दुःख दर्द में शामिल होते हैं ,एक की समस्या दूसरों की परेशानी बन जाती है , एक दूसरों के निर्णयों में भागीदार होते है, एक दूसरे की कमियों को निखार  कर उन्हें दूर करते है, और यह सब तब संभव है जब इसमें स्वार्थ शामिल नहीं हो |

https://images.app.goo.gl/qXAtfmpWdHM6MMDF7
  फिल्म  हम  आपके हैं कौन  फिल्म में ऐसे परिवारों की मिसाल पेश की गयी है |  लेकिन  आज ऐसे परिवार  बहुत कम मिलते हैं   जिनके रिश्तों में दोस्तों के परिवार फैमिली मेम्बर की तरह निस्वार्थ एक दूसरे की खुशियों में शामिल होते हैं |
https://images.app.goo.gl/SfjLB5ee88Qph57x8


 यह सब कुछ सिर्फ फिल्मों में ही नहीं बल्कि आम जिंदगी में भी सम्भव है | असली जीवन का आनंद ऐसे ही पारिवारिक रिश्ते बना  कर लिया जा सकता है |  यदि आप ऐसे परिवारों का हिस्सा हैं तो वो दोनों ही  परिवार भाग्यशाली है | बिना स्वार्थ के ऐसे दोस्ताना रिश्ते बनाये रखें  समाज में दोस्ती की मिसाल पेश करें आज के तनाव ग्रस्त जीवन में दोस्ती के संदेश से भी बदलाव सम्भव है बशर्त है की दोस्ती निस्वार्थ हो |

 लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.