क्या है क्रोध पर जीत की रामबाण औषधि जानिए

July 10, 2019
  गुस्सा करें लेकिन नफरत की जगह उसमे प्रेम को स्थान दे  

    गुस्सा एक स्वाभाविक क्रिया है गुस्सा  एक दोस्त पर भी आ सकता है दुश्मन पर भी परन्तु अधिकतर लोग   गुस्से का प्रदर्शन नफरत को शामिल करके   करते है |   जब  गुस्से में नफरत शामिल हो जाती है तो वह गुस्सा , गुस्सा नहीं रहता बल्कि हिंसा बन जाता  है |  गुस्से में यदि प्रेम शामिल हो ,मोहब्बत  शामिल हो तो वह गुस्सा तुरंत उतर भी जाता है |  इसलिए गुस्सा करें लेकिन नफरत की जगह उसमे प्रेम को स्थान दे |  गुस्सा करने वाले तथा  गुस्सा सहने  वाले दोनों  को  प्रेम मोहब्बत  की आवश्यकता होती है  |  क्योंकि प्रेम ही एक ऐसी अद्भुत चमत्कारित शक्ति है जो क्रोध पर  जीत  की रामबाण औषधि  है |
https://images.app.goo.gl/kQmtztSzaUjp3ns47

       दो मिनट का   गुस्सा न  जाने कितनी बड़ी विपत्तियों  को जन्म दे देता

    नफरत और गुस्से की बुनियाद अपराधों को जन्म देती है हिंसा को बढ़ावा देती है| यही वजह है कि   गुस्सा इंसान का   सबसे बड़ा शत्रु है  |  वास्तव में यह बात एक कटु सत्य है  यह जानते   हुए भी अधिकतर लोग गुस्सा आने पर विचार नहीं करते है  |  दो मिनट का   गुस्सा न  जाने कितनी बड़ी विपत्तियों  को जन्म दे देता   है | बाद में  जब क्रोध शांत हो जाता है तब  पछतावे के  सिवा  कुछ नहीं किया जा सकता है | इसलिए चाहे आपकी बात सही हो और दूसरे की गलत लगे तब भी समाधान विनम्रता से ही निकलना चाहिए वरना ग़ुस्से में प्राप्त की गई जीत कभी भी हार में बदल सकती है |

https://images.app.goo.gl/ceiaS44RkpbQThWF6

 क्रोध में लिया गया सही निर्णय भी वक्त आने पर उचित नहीं कहलाता 

   ग़ुस्सा  क्यों आता  है? इससे हमे  या हमारे परिवार को क्या नुकसान होता  है ?  दूसरो के मन को  हम क्रोध से कितना आहत कर देते  है ? कही  हम गुस्सा बेवजह तो नहीं कर रहे है ? पहलू  अनेक है किसी की बात सही है या गलत लेकिन गुस्सा सही और  गलत दोनों का उचित समाधान  नहीं है | क्रोध में लिया गया सही निर्णय भी वक्त आने पर उचित नहीं कहलाता  इसलिए सबसे पहले अपने गुस्से पर नियंत्रण करे क्योकि अनियंत्रित वाहन  किसी को भी दुर्घटना ग्रस्त  कर सकते है  |  उसी प्रकार  अनियंत्रित गुस्सा अनजान व्यक्ति को भी इसकी चपेट में ले सकता है |   सोचकर देखे जब कोई व्यक्ति हमारे पक्ष में खड़ा  होकर दूसरे पर रॉब झाड़ता   है दूसरे पर गुस्सा करता  है हमे बड़ा अच्छा लगता है परन्तु जिस पर गुस्सा कर रहा है जिस पर रॉब झाड़ रहा है उसे क्या महसूस हो रहा  होगा ?
https://images.app.goo.gl/ZsE44HyxSeMJX3EXA

  रिश्ते नाते बिगड़ने की मुख्य वजह क्रोध करना और उस पर नियंत्रण नहीं कर पाना है

अब इसका उल्टा करके देखे यदि यही परिस्थिति आपके साथ हो कोई आप पर रौब झाड़े  तब आपकी   स्थिति क्या होगी ? या तो आप हीन भावना से ग्रस्त हो जायेंगे या फिर खुद भी गुस्से में कोई गलत कदम उठाएंगे |  हो यही रहा है , समस्याओं का समाधान न निकल पाने की वजह से समस्याएं परेशानियां  और तनाव बढ़ रही है | आज परिवारों में रिश्ते नाते बिगड़ने की मुख्य वजह क्रोध करना और उस पर नियंत्रण नहीं कर पाना है |    गुस्सा   को कम करने के उपाय ढूंढें क्योंकि यही आपका सबसे बड़ा शत्रु है  जो चाहते हुए भी आपके काम नहीं बनने दे रहा है |  जीवन के रिश्तो  को क्रोध की नजरो से बचाइये गुस्से कीअग्नि इन्हे जला कर राख  कर देती है | 

लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.