औरत की स्थिति बदलने में स्त्री व पुरुष दोनों का योगदान महत्वपूर्ण होता है

June 24, 2019

आज के इस डिजिटल युग में महिलाओ की दशा सुधार कर ही हम पारिवारिक ओर  सामाजिक खुशहाली ला सकते है |  स्त्री  पुरुष एक दूसरे के विरोधी भी रहें हैं तो पर्याय भी है |  जहाँ तक स्त्री पुरुषों के संबंधों की बात की जाए तो संबंधों में कहीं खटास है तो कहीं मिठास भी है |  कहीं दोष पुरुष का है  तो कहीं स्त्री का भी है |परन्तु  एक दूसरे के साथ तालमेल बना कर स्त्री पुरुष जीवन के रास्तो को आसान बना सकते है |  कठिन से कठिन परिस्थिति से भी बाहर  निकल सकते है |  विपत्तियों  का मुकाबला एक दूसरे के  सहयोग से ही किया जा सकता है |
https://images.app.goo.gl/9LiJciNSazUWvfLS7




 आज स्त्री को आगे बढ़ने के  अवसर दिए जा रहें हैं |  बेटियों को पढ़ाने में कोई  कसर नहीं छोड़ी जा रही है |  बेटी के जन्म पर बेटों की तरह उत्सव मानाने की शुरुआत हो चुकी है |   पुरुषों की विकृत मानसिकता को बदलने के लिए महिलाओं के पक्ष में   कानून बनाये जा रहें हैं |  महिलाओं के मान सम्मान की रक्षा के लिए सामाज में जागरूकता   लाई   जा रही है | कई  एन.  जी.  ओ .कई  महिला संघठन महिला शक्तिकरण  के प्रयास में जुटे हुए है |
https://images.app.goo.gl/roAeV82nYiPceFF69

  यह महिलाओं के प्रति बदलती  सोच का संकेत है |  लेकिन यह संभव नहीं है की बदलाव एक दिन में आ  जाएगा |  इस बदलाव में   पुरुषों  को तो अपना योगदान देना ही चाहिए लेकिन महिलाओं की भी ज़िम्मेदारी  बनती है की इस बदलती सोच का यूज़ करें मिस यूज़ नहीं |  स्वतंत्रता का गलत फायदा नहीं उठाये अपने प्रति बने कानूनों का दुरूपयोग नहीं करे |  मी टू जैसे प्लेटफॉर्म का सदुपयोग करें  दुरूपयोग नहीं | क्योकि दुरूपयोग करने से उन पुरुषो को ठेस पहुंच सकती है जो महिलाओं  के पक्ष में खड़े होने का प्रयास कर रहे है  |    अपने आप को बेवजह अबला बना कर प्रस्तुत नहीं करें |   यह बदलती सोच महिलाओं के लिए तो फायदेमंद होगी ही  सामाजिक और पारिवारिक  जीवन में   सुख शांति बनाये रखने में भी   यह बदलती सोच मील का पत्थर साबित होगी |
https://images.app.goo.gl/GGBDrm27khY86fnZ7

 औरत  के शिक्षित होने से अपराधों में कमी होगी महिलाऐं आत्म निर्भर  बनेगी आर्थिक रूप से मजबूत होगी | महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने में पुरुषो को अपना अहम त्यागना होता है |  बिना अहंकार को त्यागे स्त्री कभी भी आगे नहीं बढ़ सकती है  | एक  दूसरे के प्रति विश्वास, एक दूसरे की परवाह, एक दूसरे का दिल से सहयोग करना बहुत ही जरूरी होता है   |    औरत की स्थिति बदलने में  स्त्री व पुरुष दोनों का योगदान महत्वपूर्ण होता है |   इसके लिए  दोनों को अपनी -अपनी  हठधर्मिता त्यागनी होगी अहम् और वहम छोड़ने होंगे  और इससे  ही एक सभ्य और सुसंस्कृत समाज का निर्माण संभव होगा  | 
  लेख आपको कैसा लगा अपने अमूल्य सुझाव हमे अवश्य दे आर्टिकल यदि पसंद आया हो तो like , share,follow करें | 

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.