दूसरों के दम पर आकाश में उड़ने के बजाय अपने दम पर जमीन पर ही ठीक से चलना सीखो

June 11, 2019
                         सफलता जूनून से  मिलती है हदो को पार करने से नहीं

हर व्यक्ति अपने जीवन काल में कुछ न कुछ पाने की चाहत रखता है |  कोई मान सम्मान पाना चाहता है, कोई प्रतिष्ठा, कोई पैसा तो कोई  प्यार पाने के   लिए मशक्कत  कर रहा  है |  कोई शिक्षा पाने की दौड़ में लगा हुआ है | इनमे से किसी भी चीज को पाने की इच्छा रखना बुरा नहीं है | बुरा है इन्हे पाने के लिए हदो को पार कर जाना | हमे यह समझना होगा की हर  चीज को प्राप्त करने की  कुछ सीमाएं, कुछ नियम ,कुछ शर्तें  होती  है |  हम उन्हें जाने बिना सारी  हदो को पार कर  जाते है |  जब तक हमे यह बात समझ आती है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है  |


छोटी छोटी सफलताओ  से ही बड़ी सफलताएं हासिल की जाती है       ←  click  to read
https://images.app.goo.gl/GaJpayNwyFyJbHYBA


 पाने   की इच्छा, ललक हर इंसान में होनी चाहिए लेकिन उन्हें हदो में रह कर भी पाया जा सकता है |  जो लोग सीमाओं को समझते है वो निश्चित रूप से इन्हे पाने में सफल होते है जो लोग इन्हे समझे बिना सारी  जिंदगी दौड़ते रहते है वो सिर्फ गधा हम्माली करते रहते है |  और जब सफल नहीं होते है तो समाज के सारे  गणित
 बिगाड  कर रख देते है  | आज समाज  का , परिवार का, देश का, विदेश का जो गणित  बिगड़ा हुआ है वो हदो और सीमाओं को पार करने की वजह से बिगड़ा हुआ हैं  |

आसमान छूने की ललक पहुँचा सकती है पाताल में       ← click to read
https://images.app.goo.gl/eEP9KkJJ3jd2s2uVA


आज घर, परिवार, पास- पड़ोस, समाज ,देश ,विदेश हर जगह देखा जाये तो असमंजस का माहौल बना हुआ है |   शिक्षा पाने , देने और दिलाने का जो जूनून आज    पैदा हुआ है   ऐसे जूनून की आवश्यकता भी है |  शिक्षा के प्रति जागरूकता ने शिक्षा का अर्थ ही बदल कर रख दिया है  |  शिक्षा  का व्यवसायीकरण इसी हद को पार करने की देंन  है |
https://images.app.goo.gl/E6wNrNzZWap6SgAD6

मान सम्मान शोहरत पैसा प्यार  पाने का जूनून हमारे सर पर इस कदर हावी हो चुका है कि  हम अच्छे बुरे का ख्याल भी दिल से निकल चुके है |  इन्हे पाने के लिए नो लिमिट  का बोर्ड हर जगह  दिखाई  देता है |  और इसी भूख ने सामाजिक गणित के साथ- साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण  का  गणित भी बिगाड़ दिया है |  जिनकी हदे कभी की समाप्त हो चुकी है |

नाम शोहरत और पैसा कमा लेना ही जीवन की सफलता नही है    ← click  to read


https://images.app.goo.gl/s9Sh9hX2m1CfceZg8

   जो  लोग  प्राकृतिक नीति-  नियमो को स्वीकार कर हदो को पार नहीं करते  है  वे मुसीबते आने पर भी   मैदान में   डटे  हुए है |  जो  हदो को पार कर लेते है  वे स्वतः  मैदान के बहार हो जाते  है |  पक्षी आकाश में अपने दम  पर उड़ सकते है |  क्योंकि प्रकृति ने उन्हें उड़ने के लिए  पर  दिए है |  हमे पर नहीं पैर  दिए है वो इस लिए की हम उन्हें जमीन पर   टीका कर चल सकें |

 यदि आप भी अपने  घर, परिवार, देश, विदेश का   बिगड़ा गणित सुधरने की आवश्यकता  महसूस करते हो तो दूसरों  के दम  पर आकाश में उड़ने के बजाय अपने दम पर जमीन  पर ही सही परन्तु  ठीक से चलना सीखो स्वर्ग स्वतः ही नजर आने लगेगा  | दुनिया के बिगड़े हुए गणित को सुधरने में यह आपका बहुत बड़ा योगदान होगा | सुधार  दुनिया में ही नहीं बल्कि अपने आप में भी लाना होगा | 

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.