आमिर खान की पाँच सर्वश्रेष्ठ फ़िल्में जो समाज के लिए प्रेरणादायक सिद्ध हो सकती है

January 06, 2019
आमिर खान ने अपने फिल्मी जीवन की शुरुआत फिल्म क़यामत से क़यामत तक से की थी और उसके बाद आमिर खान ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा ये है आमिर खान के कॅरियर की बेहतरीन पांच फिल्में|
1. दिल

https://goo.gl/images/1pQnED
फिल्म की कथा प्रेम कहानी पर आधारित है मधुर संगीत ,संवाद ,फिल्मांकन और कहानी की वजह से फिल्म आमिर खान की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में शामिल है |
2. लगान

https://goo.gl/images/DzdVU2
 ग्रामीण पृष्ठ भूमि और देश भक्ति के साथ खेल भावना पर आधारित ये फिल्म भी आमिर खान की सवश्रेष्ठ फिल्मों में से एक है |

3. थ्री इडियट्स


https://goo.gl/images/rSuKdN
आज की शिक्षा व्यवस्था पर कटाक्ष करती यह फिल्म लोगो तक यह सन्देश पहुँचाने में कामयाब रही की शिक्षा का अर्थ सिर्फ डिग्री लेना और अनुशासित होना ही नहीं बल्कि अनुशासित और शिक्षित होने के बाद मानवीय मूल्यों की पहचान होना भी आवश्यक है | 

4. पी. के.


https://goo.gl/images/6JpzsB
अंधविश्वासों और रूढ़ियों पर आधारित पी. के. फिल्म सभी धर्मों के लोगो तक यह सन्देश पहुंचाने में कामयाब रही की आम जनता को लोग धर्म और अंधविश्वासों के नाम पर किस तरह बहकाते हैं | 

5. दंगल 


https://goo.gl/images/9vR53y
एक ऐसी सफल फिल्म जिसमें एक पिता ने अपनी बेटियों को कामयाबी दिलाने के लिए समाज के लोगों की परवाह किये बगैर बेटियों को बेटों का दर्ज़ा देकर उन्हें अंतर्राष्ट्रीय खिलाडी बनाने में अपने पिता होने का पूरा फ़र्ज़ अदा किया |
https://goo.gl/images/1pk8rT
आमिर खान की ये पांच फ़िल्में प्रेम करने वालों के लिए प्रेरणा स्रोत है| देश भक्ति और खेल भावना की मिसाल है| शिक्षा के साथ मानवीय मूल्यों की अहमियत दर्शाती है | धार्मिक आडम्बरों से ऊपर उठने के लिए प्रेरित करती है | बेटियों के प्रति समाज की सोच बदलती है | हालाँकि आमिर खान की हाल ही में रिलीज हुई फिल्म ठग्स ऑफ़ इंडिया फ्लॉप हुई है लेकिन इससे आमिर खान की क्षमताओं को काम नहीं आंका जा सकता 

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.