जीवन में खुशी का बड़ा महत्व है

January 01, 2019

जीवन में खुशी का बड़ा महत्व है | खुश रहने का संबंध हमारे स्वास्थ्य से होता है | जिस तरह से हरियाली या प्राकृतिक दृश्यों को देखकर मन प्रसन्न होता है, खिले हुए फूलों को देख कर खुशी मिलती है, उसी तरह लोगों के प्रसन्न और खिले हुए चेहरों को देख कर खुशी मिलती है | कई लोग अपने उन मित्रों से सिर्फ इसलिए मिलना पसंद करते हैं कि उनके चेहरे हमेशा फूलों की तरह खिले नजर आते हैं | उनमें उत्साह नज़र आता है उमंग होती है | 

https://goo.gl/images/7n7kQY




 जिन चेहरों पर हमेशा उदासी झलकती है , चिंता की लकीर हमेशा नजर आती है, जो लोग चेहरे से ही दुख प्रकट कर देते हैं, ऐसे लोगों से लोग कम मेलजोल रखते हैं और उनके दुखों में लोग दिल से शामिल नहीं होना चाहते | ऐसे लोगों का असली दुःख कभी पता ही नहीं चल पाता है| जिन लोगों के चेहरे पर हमेशा प्रसन्नता रहती है उनका दुख तुरंत पता चल जाता है | और ऐसे लोगों के दुख दर्द में लोग तुरंत और दिल से शामिल होते हैं 

https://goo.gl/images/EPrjVM




| जो लोग खुश मिजाज नहीं होते हैं उनके लहजे हमेशा शिकायत भरे होते हैं| जबकि एक खुशमिजाज व्यक्ति की शिकायत भी स्वादिष्ट लगती है | सुख और दुख हर व्यक्ति की जिंदगी में होते हैं| कोई व्यक्ति खुश नज़र आता हैं इसका अर्थ यह नहीं कि उसके जीवन में दुख नहीं है या जो व्यक्ति दुखी है उसके जीवन में सुख नहीं है | फर्क सिर्फ सोच का होता है अपनी सोच से कई बार व्यक्ति खुशी को भी गम में बदल देता है | और कोई गम में डूबे व्यक्ति को भी सहारा देकर ख़ुशी प्रदान कर देता है  

https://goo.gl/images/QeLBwM



| काम हमेशा वह करें जिसमें हमेशा खुशी मिले ऐसा कोई कार्य नहीं करें जिससे खुद को भी दुखी होना पड़े और दूसरों को भी| दूसरों को दुखी करके आज तक कोई खुश नहीं रह सका है| हाँ थोड़ी देर के लिए जरूर हम अपने मन को खुश रख सकते हैं परंतु जब उसके परिणाम सामने आते हैं तब कई बार बड़ा पछतावा होता है कि हमें ऐसा नहीं करना चाहिए था क्योंकि जाने अनजाने में हम अपनी खुशी के लिए उसके होने वाले परिणाम को नजरअंदाज कर देते हैं और बाद में पछताने के सिवा कुछ नहीं बचता है 

https://goo.gl/images/E68Hib




|इसलिए दूसरों को दुख देकर हम कभी खुश नहीं रह सकते और यही वजह है कि दुनिया में हर व्यक्ति खुशी की तलाश में है लेकिन असली खुशी किसी को मिल नहीं रही है| क्योंकि हम अपनी खुशी के लिए दूसरों को दुखी करते आ रहे हैं| मेरी आंखों में आंसू देख कर आपके चेहरे से मुस्कुराहट गायब होनी चाहिए अपनी मुस्कुराहट देखकर मेरे आंसू रुक जाना चाहिए| जबकि इसका उल्टा हो रहा है मेरी आंखों में आंसू देख कर आपके चेहरे पर मुस्कुराहट आ रही है और आपको खुश देखकर मेरी आंखों में आंसू आ रहे हैं | हमें दूसरों की खुशियों में तहे दिल से शामिल होना पड़ेगा | तब कहीं जाकर दुखों के साम्राज्य का अंत संभव हो पाएगा |


No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.