हाथी घोडा पालकी जय कन्हैया लाल की

September 03, 2018
श्री कृष्ण का जीवन एक सम्पर्ण जीवन कहा  जा सकता है श्री कृष्ण के बाल्य कल से लेकर द्वारकाधीश  तक के राजसी सफर में लेश मात्र   भी अहं  और वहम नहीं था यही कारण रहा की श्री कृष्ण हमेशा प्रसन्न चित्त और स्वाभाविक मुद्रा में दिखाई देते है यही महत्वपूर्ण सीख श्री कृष्ण के जीवन से हमें  लेनी चाहिए


  हाथी घोडा पालकी
जय कन्हैया लाल की
https://goo.gl/images/QZkd38
                                                            बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
                                                            हर बेटे को कृष्ण बनाओ
https://goo.gl/images/ff92WZ
                                                        पर्यावरण  को स्वाच्छ बनाओ
                                                         कन्हैया जैसी बंसी बजाओ
https://goo.gl/images/1UVgsp
                                                              दूध दही और माखन खाओ
                                                         पिज़्ज़ा बर्गर को हाथ न लगाओ
https://goo.gl/images/dw721R
                                                                स्वस्थ रहो मस्त रहो
                                                            कृष्ण सुदामा सी दोस्ती करो
https://goo.gl/images/JapF15
                                                        राधे राधे श्याम मिला दे
                                                      बचपन को फिर से लौटा दे
https://goo.gl/images/Kb1Wj1

                                                                  हाथी घोडा पालकी
                                                                 जय कन्हैया लाल की

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.