क्या शिक्षा लेने और देने के अंतर् ने सामाजिक विषमता का दायरा और बढ़ा दिया है

September 10, 2018
शिक्षा प्राप्त करना हर बच्चे का मूलभूत अधिकार है | शिक्षा के बिना हम एक सभ्य समाज की कल्पना को साकार नहीं कर सकते
https://goo.gl/images/Hrz3Gu
  लेकिन आज शिक्षा लेने और देने के अंतर् ने सामाजिक विषमता का दायरा और बढ़ा  दिया है  | जो आर्थिक और मानसिक सोच को दर्शा रहा है
https://goo.gl/images/NoKqZj
 इन  तस्वीरों में सामाजिक विषमता का फर्क साफ नजर आ रहा है | आर्थिक और शैक्षणिक पिछड़ेपन  की झलक इन तस्वीरों से प्रतीत हो रही है |
https://goo.gl/images/QyRszg
 जो लोगों  की सोच और मानसिकता को प्रभावित कर रही  है | यही वजह है की अपना पेट काट कर भी हर माता पिता अपने बच्चों  को यथा सम्भव अच्छी शिक्षा दिलाने की कोशिश कर रहे है |

क्या शिक्षा की यह स्थिति देश की गंभीर समस्या नहीं है ? क्या बच्चो के बचपन की कीमत में उनका भविष्य तो नहीं खरीदा जा रहा |
https://goo.gl/images/rCLyTz
क्या आज हम शिक्षा और समझदारी में फर्क कर पा  रहे है?  क्या शिक्षा जैसी मूलभूत आवश्यकता का महंगा होता जाना चिंता का विषय नहीं है ? इन प्रश्नो के उत्तर आपके स्वयं के पास है क्यों की आप भी अपने बच्चे के भविष्य के बारे में चिंतित है | यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो  तो  like, share ,comment, and follow

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.