न घोड़ी न कार जेसीबी बनी डोली और कहार

June 23, 2018
मनोरंजन यानी आनंद और आनंद होता है मन की खुशी में | मन को खुश करने के लिए लोग नए- नए तरीके ईजाद करते है |

Third party image reference
कर्नाटक के पुत्तूर में इन महाशय ने अपने मन की ख़ुशी का नया अंदाज पेश किया | लोग अपनी दुल्हन को कार में बैठा कर विदा करवाते है | कार को सजाने पर हजारो रुपया खर्च करते है | इन्होंने न तो कार सजावट पर फिजूल खर्ची की बल्कि अपनी दुल्हन को जेसीबी के हुक पर बैठा कर विदा करवाया |
Third party image reference
दुल्हन ने भी इसमें दुल्हे का साथ हँसी ख़ुशी से दिया | यही जिंदगी के यादगार पल होते है | यही जिंदगी की मस्ती होती है | यही असल में जिंदादिली होती है | 

Third party image reference
 इसी तरह लोग अपनी अलग पहचान बना कर लोगो के लिए आकर्षण का केंद्र बन जाते है | मिसाल बन जाते है | एक जे सी बी ड्राइवर और उनकी दुल्हन का यह निराला अंदाज प्रेरणा दायक तो है ही | 

No comments:

यदि आपको हमारा लेख पसन्द आया हो तो like करें और अपने सुझाव लिखें और अनर्गल comment न करें।
यदि आप सामाजिक विषयों पर कोई लेख चाहते हैं तो हमें जरुर बतायें।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.